संजय दत्त के साथ लव मेकिंग सीन करने से पहले महेश भट्ट ने बेटी पूजा को दी थी यह ख़ास सलाह

महेश भट्ट का लगभग पूरा परिवार फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़ा हुआ है। उनकी सबसे बड़ी बेटी पूजा भट्ट 90 के दशक की कामयाब अभिनेत्रियों में से एक थी। वहीं पूजा भट्ट को उनकी फिल्मों से ज़्यादा उनके विवादों के लिए जाना जाता है। लंबे समय से फिल्मी पर्दे से दूर रहने वाली पूजा भट्ट हाल ही में सड़क 2 ले कर दर्शकों के बीच पहुंची थी। इस फ़िल्म का निर्देशन उनके पिता महेश भट्ट ने किया था वहीं इस फ़िल्म में उनके साथ उनकी बहन आलिया और संजय दत्त भी प्रमुख भूमिका में नज़र आये थे। हालांकि यह फ़िल्म ज़्यादा कमाल नहीं कर पाई और बुरी तरह से फ्लॉप हुई थी। 

अब जल्द ही एक्ट्रेस ओटीटी प्लेटफार्म पर अपना डेब्यू करने वाली हैं। उनका आगामी प्रोजेक्ट नेटफ्लिक्स पर है जिसका नाम बॉम्बे बैगम्स होगा। हाल में एक्ट्रेस पूजा भट्ट इसी शो के प्रमोशन में व्यस्त है। इस दौरान एक इंटरव्यू देते हुए उन्होंने अपने पुराने दिन याद किये। वहीं अपने करियर से जुड़ी कई बातें भी साझा की। गौरतलब है कि पूजा भट्ट ने महज़ 17 साल की उम्र में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फ़िल्म डैडी से की थी। 

इसके बाद वो फ़िल्म आई जिसने उन्हें एक ख़ास पहचान दिलाई। यह फ़िल्म थी सड़क, जिसका निर्देशन उनके पिता महेश भट्ट ने किया था। इस फ़िल्म ने पूजा भट्ट के फिल्मी करियर को एक नई ऊंचाई दी, इस फ़िल्म में उन्होंने कई लव सीन भी दिए जिसको ले कर शुरुआत में वे सहज महसूस नहीं कर रही थी। मगर पूजा भट्ट के अनुसार उनके जीवन के पहले लव मेकिंग सीन से पहले उनके पिता महेश भट्ट ने एक खास सलाह दी थी। 

पूजा ने इस इंटरव्यू में बताया कि सालों पहले सड़क के सेट पर मुझे एक खास सलाह मिली थी। यह वह समय था जब मुझे अपने चहेते सितारे संजय दत्त के साथ लव मेकिंग सीन करना था। मैं उस दौरान महज़ 18 साल की थी। और मुझे उस आदमी के साथ इंटिमेंट होना था जिसके पोस्टर मेरे कमरे में लगे हुए थे। इसलिए मैं काफी नर्वस हो गयी थी। मगर उस रोज मेरे पिता ने मुझे एक सलाह दी थी जो जिंदगीभर मुझे याद रहने वाली है। 

पूजा भट्ट बताती है कि उनके पिता ने उनसे कहा था कि अगर वे इस सीन को वल्गर समझ कर करेंगी तो यह वल्गर ही लगेगा। इसीलिए तुम्हें लव मेकिंग के इस सीन को बहुत प्यार से, मासूमियत से और गरिमा में रह कर करना होगा। क्योंकि सीन को अच्छे दायरे में रह कर ही दर्शकों तक पहुंचाना होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *